What Is Insurance? What Are The Types Of Insurance?

Insurance भविष्य में किसी दुर्घटना या नुकसान से निपटने का एक बहुत  ही प्रभावी हथियार है। हमें पता नहीं कि शायद हमारे जीवन में कल क्या होगा । इसीलिए हमें अपने जीवन में Insurance Policy के द्वारा अपने जीवन में होने वाले नुकसान की भरपाई कर सकते हैं।

Insurance का मतलब होता है किसी घटना से सुरक्षा। अगर कोई व्यक्ति अपना Bima करवाता है।तो उस व्यक्ति के जीवन में होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई व्यक्ति द्वारा करवाई गई बीमा कंपनी करती है।

इसी तरह अगर किसी व्यक्ति ने अपने घर या मोबाइल या कार का Bima करवा रखा है तो उस घर या mobile car   के टूटने या फूटने पर या किसी प्रकार का छतिग्रस्त होता है तो उसकी सारी भरपाई व्यक्ति द्वारा कराई गई Bima company करती है। इस बात का पहले से ही तय रहता है।

असल में बीमा एक कंपनी बीमा कराने वाले व्यक्ति के बीच एक प्रकार की अनुबंध होती है इस संबंध के तहत बीमा कंपनी के साथ बीमा कराने वाला व्यक्ति के बीच एक निश्चित राशि तय की जाती है।बीमा कराने वाले व्यक्ति या कंपनी के policy के बीच नुकसान होने पर एक नियम तय होता है।

बीमा कितने प्रकार के होते हैं?

वैसे तो बीमा दो प्रकार के होते हैं-

(1) साधारण बीमा (General insurance)

(2) जीवन बीमा (Life insurance)

यह तो हम आपको बताते हैं कि normal bima के अंतर्गत क्या क्या आता Norma bima  में आने वाले घर पशु mobile swastya Bima   इत्यादि बीमा शामिल है। 

घर का बीमा अगर आप अपने घर का बीमा किसी normal bima policy के कंपनी से करवाते हैं तो आपका घर हमेशा सुरक्षित रहेगा।अगर आप किसी कंपनी से अपना bima policy  खरीदते हैं तो आपके घर पर किसी प्रकार का भी छतिग्रस्त होता है तो उसकी सारी भरपाई bima policy की कंपनी करती हैं।

अगर आपके घर में किसी तरह का नुकसान होता है और आपने अपने घर का bima policy करवा रखा है साथी घर को प्राकृतिक आपदा  से हुए नुकसान तथा भूकंप आने से आपके घर में  किसी प्रकार का  क्षतिग्रस्त होता  है और साथी आकाशीय बिजली आपके घर पर गिरती है तथा आग लगती है या बाढ़ का आ जाना इस प्रकार से आपका कोई भी छतिग्रस्त होता है तो इसकी सारी भरपाई आपके द्वारा कराई गई बीमा कंपनी करती है।

Swasthya Bima  आजकल हमारे देश में तेजी से बीमारियां बढ़ रही हैं।और बीमारियों का इलाज करने के लिए भी अत्यधिक पैसों का भी खर्च हो रहा है।अगर आप Swasthya Bima  करवाते हैं तो आप की बीमारी पर होने वाला खर्च बीमा कंपनी करवाती है।साथ कोई बीमारी होने पर आपके खर्च की सीमा आपकी Swasthya Bima  policy के ऊपर निर्भर करता है। कि आपने कितने तक का बीमा करवा रखा है।

वाहन का बीमा

हमारे भारत देश में सड़क पर चलने वाला कोई भी वाहन उसका बीमा करवाना कानूनी के तौर पर बहुत जरूरी है। अगर आप अपना बाइक बिना बीमा कराए हुए अगर आप मुझसे रोड पर चलाते हैं तो उसका जुर्माना traffic police भी कर सकती है।अगर आपका कभी accident हो जाता है या फिर आपकी बाइक में किसी प्रकार का क्षतिग्रस्त  हो जाता है या फिर आपकी बाइक में से चोरी हो जाती है  तो इसकी सारी भरपाई वाहन बीमा के द्वारा  की जाती है। अगर आप यह  बीमा करवाते हैं तो आपको बहुत ही लाभ होगा ।

वाहन बीमा का तो आपको अत्यधिक लाभ तब होता है जब आपके बहन से किसी व्यक्ति को चोट लग जाती है या फिर उसकी मौत भी हो जाती है। इसका लाभ यह होता है कि इसे third party insurance के द्वारा कवर किया जाता है। इसीलिए आपके पास moter bike या car हो तो उसका बीमा जरूर करवाना चाहिए।

यात्री बीमा 

अगर आप यात्रा बीमा करवाते हैं जो आपके द्वारा यात्रा करने पर किस से होने वाले नुकसान से होने वाली बीमा आपको बजाती है । अगर आप बस से यात्रा करते हैं तो ट्रैवल इंश्योरेंस करा सकते हैं अगर आप ट्रेन से है तब भी अपना Travel insurance करा सकते हैं अगर आप फ्लाइट से कहीं यात्रा कर रहे हैं तो उसका भी आप Travel insurance  करवा सकते हैं।और अगर आपको यात्रा करने के दौरान कोई भी नुकसान होता है तो इसकी सारी भरपाई Travel insurance करती है।और इस travel insurance company के भी कुछ अपने नियम और शर्त होते हैं ।

Crop Insurance

घर कोई किसान खेती करने के लिए लोन लेता है तो उसके लिए उसका Fasal bima करवा लेना अत्यधिक लाभदायक होता है। क्योंकि Fasal bima के अंतर्गत किसान द्वारा किए गए खेती में अगर किसी प्रकार का नुकसान होता है तो उसकी सारी भरपाई Fasal bima करती है। जैसे बाढ़ का आ जाना या किसी बीमारी की वजह से फसल का खराब हो जाना है या फिर आग लग जाना है इत्यादि ऐसी घटनाओं का नुकसान होने पर या बीमा भरपाई करती है।

वैसे तो फसल बीमा की की शर्ते अत्याधिक नियम और कानून के तौर पर कड़ी है। और साथ ही लागत केहिसाब से किसानों को मुआवजा नहीं मिल पाने के कारण अब किसानों में फसल बीमा को लेकर ज्यादा उत्साह नहीं है सर मैं बात किया है कि अगर किसी किसान खेती में नुकसान होता है तो बीमा कंपनी है आसपास के मौजूद सभी खेतों में जाकर सर्वे करती है।और इसके साथ बीमा कंपनियां मुआवजा  तभी देती है जब उनके आसपास के किसानों का भी नुकसान हुआ हो।

कारोबार के लिए बीमा असल में यह बीमा किसी कंपनी के द्वारा कामकाज या फिर किसी भी उत्पाद से ग्राहक को नुकसान होती है तो उसकी भरपाई के लिए या बीमा है।इस तरह अगर कोई व्यक्ति किसी कंपनी पर कानूनी कार्रवाई करता है तो यह बीमा इंश्योरेंस उसको कानूनी कार्रवाई की पूरी खर्च देती है।

जीवन बीमा

जीवन बीमा के अंतर्गत किसी व्यक्ति के जिंदगी का बीमा होता है। जीवन बीमा का मतलब यह होता है कि बीमा पॉलिसी खरीदने वाले व्यक्ति की अगर मृत्यु हो जाती है तो उसके आश्रितों को बीमा कंपनी की तरफ से कुछ मुआवजा दिया जाता है। 

जीवन बीमा के अंतर्गत अगर आपके परिवार के किसी व्यक्ति का मृत्यु हो जाता है तो उसके घर को चलाना मुश्किल हो जाता है खास करके अगर वह आपके परिवार का मुख्य व्यक्ति हो जिसके आश्रित पर पूरा आपका घर चलता हो। तो आपके घर पर आर्थिक संकट आ सकते हैं।और अगर आप चाहते हैं कि आपके घर के ऊपर आते संकट ना आए तो जीवन बीमा आपके लिए बहुत ही आवश्यक है। इसलिए आज के जमाने में जीवन बीमा पॉलिसी खरीदने का आपको भी विचार दिया जाता है।

Leave a Comment